विकास और सॉफ्टवेयर निर्यात

1998-99 में दो कंपनियों  (कॉमेट इन्फओस्क्राइब और सॉफ्टवेयर पैराडिज्म इंडिया लिमिटेड) के साथ शुरू एसटीपीआई मैसूर में 80 लाख रुपए का अल्प सॉफ्टवेयर निर्यात दर्ज हुआ था। तब से अब तक वहां सतत बढ़ोतरी जारी है। आज एसटीपीआई-मैसूर में 51 एसटीपी इकाइयां और 7 ईएचटीपी इकाई है।जिस से 1440 करोड़ का निर्यात हुआ 2008-09 में।

एसटीपी की संख्या: 51 इकाइयों

ईएचटीपी की संख्या: 7 इकाइयों

वित्तीय वर्ष- 2008-09, 2007-08 में 37% की वृद्धि के दौरान Rs.1440 करोड़ रुपए का कुल निर्यात हुआ

मैसूर में सॉफ्टवेयर उद्योग विभिन्न क्षेत्रों में आईटी और आईटीईएस जैसे वेब सामग्री विकास, दूरसंचार सॉफ्टवेयर, वीएलएसआई सेवा, बैंकिंग, वित्तीय और कानूनी सेवाएं सॉफ्टवेयर, मेडिकल ट्रांसक्रिप्शन को सेवा प्रदान करता है