मंगलुरु

मंगलुरु के संबंध में

दक्षिण कन्नड़- सूचना प्रौधिकी का सशक्त गंतव्य,
लोग और क्षेत्र

प्रदेश को आदर्श सामाजिक एवं आर्थिक परिदृष्य प्रदान करता है जो रणनीतिक निवेश के लिए अनिवार्य है। लोग नौकरी-पेशा और उद्दमशील हैं।

  • समाज गुणवत्ता पूर्ण जीवन स्तर के साथ शिक्षित, बहुसांस्कृतिक, बहुधार्मिक एवं महानगरीय है। साक्षरता दर 100 प्रतिशत है।
  • देहाती परिवेश, अप्रदूषित वातावरण और अच्छी वर्षा के साथ नरम जलवायु।
  • समुद्र तट और प्राकृतिक सुदंरता के साथ एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल।
  • मंदिर और प्राचीन किले इस क्षेत्र की समृद्ध संस्कृति और इतिहास का सार प्रस्तुत करते हैं।
  • इसके अलावा यहां पब, बॉलिंग ऐलीज, क्लब और मनोरंजन के स्थान हैं।

रेलवे - कोंकण रेलवे पहले से ही परिचालित है।
हवाईअड्डा – बंगलूरू, मुम्बई के लिए दैनिक संपर्क
बिजली - कर्नाटक में सर्वश्रेष्ठ सममूल्य
दूरसंचार – मंगलुरु और उडुपी में दो दूरसंचार जिले परिचालित हैं। 

लागत कारक

क्षेत्र कम लागत की बुनियादी सुविधाओं, रियल एस्टेट और श्रमशक्ति के माध्यम से निवेशकों को प्रतिस्पर्धी बढ़त प्रदान करता है। यहां प्रगतिशील शहर के सभी फायदे हैं और अधिक जनसंख्या वाले महानगर की कमी भी यहां नहीं है।

  • अधिकतम लाभ, विशेषकर श्रम/तकनीक आश्रित उद्दोग के लिए
  • बंगलूरू से 25-30 प्रतिशत कम अचल संपत्ति लागत। क्षेत्र निर्मित एवं बहुतायत में उपलब्ध खाली जमीन, दोनों रूपों में उचित अचल संपत्ति प्रदान करता है।
  • समर्थन मूल्य बंगलूरू से अनुमानित तौर पर 20 प्रतिशत कम।
  • प्रतिष्ठित संस्थानों से इंजीनियरिंग, प्रबंधन, मूल विज्ञान एवं कला में प्रशिक्षित श्रमशक्ति की उपलब्धता। प्रति वर्ष लगभग 7,500 छात्र स्नातक होते हैं जिनमें करीब 2,500 इंजीनियरिंग के छात्र होते हैं। इनमें 70 प्रतिशत से अधिक मूल सूचना प्रौद्दोगिकी में प्रशिक्षित होते हैं। डिप्लोमा धारकों की भी बड़ी संख्या है।
  • बंगलूरू से अनुमानित 30 प्रतिशत कम श्रमशक्ति लागत।

आईटीईएस के लिए प्रगति की संभावनाएं

मंगलुरु में आईटीईएस के लिए प्रगति की संभावनाएं

  • आईटीईएस नीति के लिए मैक्किंजे ड्राफ्ट की कर्नाटक सरकार से सिफारिश।.
  • आईटीईएस, बीपीओ के लिए कर्नाटक सरकार द्वारा मंगलूर पूरी तरह तैयार।
  • मंगलुरु में आईटीईएस क्रांति अपेक्षित।
  • मैक्किंजे-2010 में कर्नाटक के माध्यमिक शहरों में 2,25,000 नौकरियां उपलब्ध होंगीं।
  • कर्नाटक सरकार द्वारा आईटीईएस सफल कंपनियों में प्रत्येक प्रथम तीन को 3 करोड़ रूपए।
  • अंग्रेजी भाषी जनसंख्या।
  • उच्च साक्षरता दर।
  • कम परिचालन लागत।
  • कम निवेश लागत।
  • तकनीकी तौर पर प्रशिक्षित श्रमशक्ति-इंजीनियरिंग कॉलेजों की बहुतायत।

आधारभूत सुविधाएं

एसटीपीआई मंगलुरु एकाधिक अंतरराष्ट्रीय ऑप्टिक फाइबर बैंडविड्थ से संचालित है और यहां उच्च गति डेटाकॉम सेवाओं को सुगम बनाने वाला अंतराष्ट्रीय सैटेलाईट गेटवे अर्थस्टेशन भी है, जिससे क्वालिटी इंटरनेट सेवाओं का लाभ मिलता है। यह नई कंपनियों को इन्क्यूबेशन सेवाएं प्रदान करता है। 

मंगलुरु में डेटा संप्रेषण की सुविधा

  • इंटरनेट बैकबोन एकाधिक अंतराष्ट्रीय ऑप्टिक फाईबर बैंडविड्थ से जुड़ा है। यह रियल टाइम उपयोग के लिए आदर्श है।

आधारभूत सुविधाएं

अत्याधुनिक एसटीपीआई मंगलुरु शहर के निकट देरेबेल स्थित ब्लूबेरी हिल में 12,000 वर्ग फीट क्षेत्र में फैला है। यहां स्वागत कक्ष,  एनओसी कार्य क्षेत्र,  विशाल सम्मेलन हॉल, पुस्तकालय और भूमि तल में अल्पाहार गृह है।

यहां एसएमई की सुगमता के लिए पूरी तरह से नेटवर्क में बंधे छह इंक्यूबेटर (प्रत्येक 220 वर्ग फुट) हैं।

इंक्यूबेशन सुविधाएं

दक्षिण कन्नड़ प्रदेश में आईटी/आईटीईएस के क्षेत्र में उद्दमियो को प्रेरित करने एवं बढ़ावा देने के लिए तथा लघु एवं मध्यम आकार उपक्रम (एसएमई) को प्रोत्साहित करने हेतु एसटीपीआई मंगलुरु में अत्याधुनिक इंक्यूबेशन सुविधा उपलब्ध है।
इंक्यूबेटर अवधारणा विश्व भर में एक आवश्यक घटक के रूप में उभरा है जो उच्च प्रौद्दोगिकी कारोबार की प्रगति सहित सूचना प्रौद्दोगिकी एवं सॉफ्टवेयर विकास के लिए आवश्यक है।

इन इंक्यूबेटरों ने परंपरागत तौर पर विश्वविद्यालयों से तकनीक हस्तांतरण कर आधुनिक तकनीक के निर्माण के संस्थान की भूमिका निभाई है,  एक बार फिर ध्यान के केन्द्र में हैं, लेकिन इस बार प्रगतिशील देश में।  

यह आवश्यक है कि पारंपरिक आईटी (और/या विज्ञान) पार्क और इंक्यूबेटर सुविधा के बीच अंतर किया जाए। अंतर का मुख्य कारक चयन संघ के माध्यम से बौद्धिक एवं वित्तीय सहायता की उपलब्धता है जो सभी व्यापार से संबंधित मुद्दों के बारे में रणनीतिक सलाह प्रदान करता है।

  • लघु एवं मध्यम आकार उपक्रम (एसएमई) प्रौद्योगिकी निष्पादन पर ध्यान केंद्रित करने के लिए अधिक महत्वपूर्ण हैं। विकसित देशों में एसएमई क्षेत्र प्रमुख स्थान रखता है और इसकी सफलता के कई कारणों में एक वितरण आय के मामले में उचित इक्विटी लाभ है।
  • एक मजबूत एसएमई क्षेत्र सेवाओं के संबंध में सूक्ष्म है। यह छोटे उपक्रम से लेकर मध्यम उमक्रम तक को अपनी सेवाएं प्रदान कर सकता है। विकसित देशों में एसएमई का प्रदर्शन बेहतर रहा है और यही तरीका उन्नत विकासशील देशों ने ग्रहण किया है। यह जाना माना तथ्य है कि विकसित देशों में बड़े पैमाने के उपक्रम तेजी से नीचे जा रहे हैं और एसएमई के नेटवर्क पर निर्भर हैं। इसलिए विकासशील देशों में तकनीक सबल एसएमई प्रणाली को बड़े उपक्रम के साथ मिलकर काम करने हेतु आकर्षित करना एवं विकसित करना आवश्यक होगा।
  • यह उद्दोग और नई कंपनियों को भारत में ही स्वयं की बौद्धिक संपदा रखने के लिए प्रोत्साहित करेगा। अब तक भारत में विकसित अधिकतर बौद्धिक संपत्ति अमेरिकी कंपनियों के स्वामित्व में है। 

एसटीपीआई मंगलुरु इंक्यूबेटर सेंटर में उपलब्ध सुविधाएं

  1. लगभग 220 वर्ग फीट के प्रत्येक क्षेत्र में पूरी तरह से सुसज्जित और वातानुकुलित छह कार्यालय मॉड्यूल।
  2. पेंटियम संचालित कंप्यूटर के साथ प्रत्येक कार्यालय में 5 वर्कस्टेशन।
  3. उच्च गति इंटरनेट गेटवे जुड़ाव के साथ स्विचड् स्थानीय क्षेत्र नेटवर्क।
  4. डीजल जेनरेटेर बैकअप से विद्युत आपूर्ति
  5. 1:1 के साथ यूपीएस सुविधा
  6. ईपीएबीएक्स,  फोन,  फैक्स, सीडी राइटर, स्कैनर, प्रिंटर एवं फोटोकॉपी करने की सुविधाएं
  7. 24 सीटों की क्षमता वाला सम्मेलन कक्ष
  8. परिचर्चा कक्ष
  9. तंत्र संचालन केंद्र से 24/7 तकनीकी मदद
  10. आग चेतावनी और प्रवेश नियंत्रण
  11. सुविधा रखरखाव
  12. 24 घंटे सुरक्षा
  13. अल्पाहार गृह

संपर्क

श्री रविंद्र अरूर
प्रभारी अधिकारी
सॉफ्टवेयर टेक्नोलाजी पार्क ऑफ इंडिया
ब्लूबेरी हिल, देरेबेल
मंगलुरु - 575008
कर्नाटक, भारत
फोनः91-824-2212139ए2212189
फैक्स-9-.824-2216555
 

24 घंटे एनओसी परिचालन
फोनः 91-824-2212139, 2212189, 2216554